एचडीएफसी बैंक के लाखों ग्राहकों को झटका, लोन की ईएमआई बढ़ेगी

 

HDFC Bank Hikes MCLR

HDFC Bank Hikes MCLR : एचडीएफसी बैंक ने लोन पर ब्याज दरों को बढ़ाकर लाखों ग्राहकों को झटका दिया है. एमसीएलआर दर बढ़ने से होम लोन, पर्सनल लोन और ऑटो लोन समेत सभी तरह के लोनधारकों को अधिक ईएमआई चुकानी पड़ेगी.

एचडीएफसी बैंक ने लोन की ब्याज दरों को बढ़ाने की घोषणा करते हुए अपने लोनधारकों को बड़ा झटका दे दिया है. बैंक ने चुनिंदा टेन्योर पर फंड आधारित उधार दरों (MCLR) की बेंचमार्क सीमांत लागत में 15 बेसिस प्वाइंट तक की बढ़ोतरी कर दी है. ऐसे में होम लोन, पर्सनल लोन और ऑटो लोन समेत सभी तरह के फ्लोटिंग लोन की ईएमआई बढ़ जाएगी.

एमसीएलआर तय करते समय कई फैक्टर्स को ध्यान में रखा जाता है जिसमें डिपॉजिट रेट, रेपो रेट, परिचालन लागत और नकद रिजर्व रेशियो बनाए रखने की लागत शामिल होती है. रेपो रेट में बदलाव का असर एमसीएलआर रेट पर पड़ता है. एमसीएलआर में बदलाव लोन की ब्याज दर को प्रभावित करती है, जो लोनधारक की ईएमआई में बढ़ोत्तरी के रूप में सामने आता है. एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के अनुसार एमसीएलआर की नई दरें 7 जुलाई 2023 से प्रभावी की जा रही हैं.

एचडीएफसी बैंक एमसीएलआर लेटेस्ट दरें

  • एचडीएफसी बैंक का ओवरनाइट एमसीएलआर 15 बीपीएस बढ़ाकर 8.10 फीसदी से 8.25 फीसदी कर दिया है.
  • एक महीने का एमसीएलआर 10 बीपीएस बढ़ाकर 8.20 फीसदी से 8.30 फीसदी हो गया है.
  • तीन महीने का एमसीएलआर भी पिछले 8.50 प्रतिशत से 10 आधार अंक बढ़कर 8.60 प्रतिशत किया गया है.
  • छह महीने का एमसीएलआर पहले के 8.85 प्रतिशत से 5 बीपीएस बढ़कर 8.90 प्रतिशत हो गई.
  • एक वर्ष से अधिक टेन्योर के लिए एमसीएलआर 9.05 प्रतिशत है, इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है.

ऑटो लोन, होमलोन और पर्सनल लोन की ईएमआई बढ़ेगी

एमसीएलआर में बढ़ोत्तरी का विपरीत असर होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल लोन समेत इससे जुड़े सभी तरह के लोन की ब्याज दर देखने को मिलेगा. मौजूदा लोनधारकों को अधिक ईएमआई चुकानी होगी, जबकि नए लोनधारकों को ऊंची ब्याज दर पर लोन लेना होगा.

Leave a Comment